मैगसेसे पुरस्कार 2018

दो भारतीय समाजसेवियों भारत वाटवानी और सोनम वांगचुक को नोबेल पुरस्कार का एशियाई संस्करण कहलाने वाले रमन मैगसेसे पुरस्कार से नवाजा जाएगा। ये इस साल इस अवार्ड को जीतने वाले 6 लोगों में से एक हैं। भरत वाटवानी एक मनोवैज्ञानिक है, जो सड़क पर रहने वाले गरीब मनोरोगियों के संरक्षण के लिए काम करते हैं। सोनम वांगचुक को आर्थिक प्रगति के लिए विज्ञान और संस्कृति का रचनात्मक उपयोग करते हुए लद्दाखी युवाओं की जिंदगी सुधारने के लिए जाना जाता है। इन दोनों के चयन की जानकारी रमन मैगसेसे फाउंडेशन ने बृहस्पतिवार को अपने अधिकृत ट्विटर हैंडल के जरिए दी। इन दोनों भारतीयों के साथ इस साल अवार्ड जीतने वाले अन्य विजेताओं में कंबोडिया के यॉक चांग, पूर्वी तिमोर की मारिया डि लाउर्ड्स मार्टिन्स क्रूज, फिलीपिंस के हॉवर्ड डि और वियतनाम के वो थि होआंग येन शामिल हैं। इन सभी को 31 अगस्त को यहां औपचारिक तौर पर एक समारोह में पुरस्कार दिया जाएगा।

पुलित्ज़र पुरस्कार 2018

दुन‍ियाभर में पत्रकारिता का सबसे सम्‍मानित पुरस्‍कार पुलित्जर अवॉर्ड की घोषणा कोलंबिया यूनिवर्सिटी में हुई. 'द न्यू यॉर्क टाइम्स' अखबार और 'द न्यू यॉर्कर' मैगजीन ने सर्वश्रेष्‍ठ पत्रकारिता का पुलित्जर पुरस्कार जीता है. वहीं इस बार दो भारतीयों को भी यह पुरस्‍कार मिला है. वहीं खोजी पत्रकारिता के लिए वॉश‍िंगटन पोस्‍ट को दिया गया. 2016 में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में रूस द्वारा दखलअंदाजी की रिपोर्टिंग के लिए उसे यह पुरस्‍कार दिया गया. वहीं इतिहास में पहली बार किसी रैप कलाकार को इस प्रतिष्ठित पुरस्कार से नवाजा गया है.अमेरिकी रैपर और गीतकार केंड्रिक लैमर ने अपनी एल्बम 'डैम' के लिए पुलित्जर पुरस्कार जीता है. वेबसाइट सीएनएन डॉट कॉम के मुताबिक, सोमवार को पुरस्कार समारोह के दौरान लैमर की एल्बम ने यह पुरस्कार जीता. पहली बार गैर शास्त्रीय और जैज से इतर रैप क्षेत्र में किसी कलाकार ने यह पुरस्कार जीता है. 'डैम' लैमर की चौथी स्टूडियो एल्बम है, जो अप्रैल 2017 में रिलीज हुई थी. लैमर (30) ने इस एल्बम के लिए जनवरी में पांच ग्रैमी पुरस्कार जीते थे. पत्रकारिता का सर्वोच्‍च सम्‍मान पुलित्जर पुरस्कार हासिल करने वालों में 2 भारतीयों के नाम भी हैं. नई दिल्‍ली के दानिश सिद्दीकी और मुंबई के अदनान अबि‍दी को उनके फोटोज के लिए यह पुरस्‍कार दिया गया है. उन्‍हें फीचर फोटोग्राफी की श्रेणी में यह पुरस्‍कार मिला है.

पुलित्ज़र पुरस्‍कार विजेता

लोकसेवा: 'द न्यू यॉर्क टाइम्स और 'द न्यू यॉर्कर' हॉल‍ीवुड में यौन उत्‍पीड़न मामलों की रिपोर्ट‍िंग के लिए
ब्रेकिंग न्‍यूज: द प्रेस डेमोक्रेट
एक्‍सप्‍लेनेटरी रिपोर्ट‍िंग: द एरिजोना रिपब्‍ल‍िक, यूएसए टुडे नेटवर्क
लोकल रिपोर्ट‍िंग: द‍ सिनसिनाटी एनक्‍वॉरर
नेशनल रिपोर्ट‍िंग: द वॉश‍िंगटन पोस्‍ट और द न्यू यॉर्क टाइम्स
इंटरनेशनल रिपोर्ट‍िंग: क्‍लेयर बाल्‍दवीन, एंड्रु आरसी मार्शल, मैनुअल मोगेटो, रॉयटर्स
फीचर लेखन: रेचल कादजी घानसाह, जीक्‍यू मैग्‍जीन
कमेंट्री: जॉन आर्कीबाल्‍ड, एलाबामा मीडिया ग्रुप
क्र‍िटिसिज्‍म: जैरी साल्‍ट्ज, द न्यू यॉर्कर
संपादकीय लेखन: एंडी डोमिनिक, दे मोइनस रेजिस्‍टर
संपादकीय कार्टून: जेक हालपर्न, माइकल सलोन, न्‍यू यॉर्क टाइम्‍स
ब्रेकिंग न्‍यूज फोटोग्राफी: रयान कैली, द डेली प्रोग्रेस
फीचर फोटोग्राफी: राइटर्स फोटोग्राफी स्‍टाफ






पद्म पुरस्कार 2018

गणतंत्र दिवस से पहले गुरुवार को सरकार ने पद्म पुरस्कारों का एलान किया। 2018 में 85 लोगों को पद्म पुरस्कार दिए जाएंगे। इनमें म्यूजिशियन इलैयाराजा को पद्म विभूषण महेंद्र सिंह धोनी को पद्म भूषण से सम्मानित किया जाएगा। अफोर्डेबल एजुकेशन के लिए अरविंद गुप्ता गोंड आर्ट के लिए भज्जू श्याम पद्म पुरस्कारों का एलान हर साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर किया जाता है। पिछले साल 89 अवॉर्ड दिए गए थे। आजादी के बाद से पिछले साल तक कुल 4417 हस्तियों को देश के प्रतिष्ठित अवॉर्ड दिए जा चुके हैं।
पद्म विभूषण
1. इलैयाराजा आर्ट (म्यूजिक)
2. गुलाम मुस्तफा खान आर्ट (म्यूजिक)
3. परमेश्वरन परमेश्वरन लिटरेचर एंड एजुकेशन
पद्म भूषण
1. वेद प्रकाश नंदा लिटरेचर एंड एजुकेशन
2. लक्ष्मण पई आर्ट (पेंटिंग)
3. अरविंद पारिख आर्ट (म्यूजिक)
4. शारदा सिन्हा आर्ट (म्यूजिक)
5. पंकज आडवाणी स्पोर्ट्स
6. महेंद्र सिंह धोनी स्पोर्ट्स
7. फिलीपोस मार क्रिसोस्टोम स्प्रिचुअलिज्म
8. एलेक्जेंडर कैडेकिन पब्लिक अफेयर्स
9. रामचंद्रन नागास्वामी आर्कियोलॉजी




शीतांशु यशचंद्र को 27वां सरस्वती सम्मान

गुजराती के प्रमुख कवि, नाटककार एवं विद्वान शीतांशु यशचंद्र को 27 अप्रैल 2018 को 27वां सरस्वती सम्मान दिये जाने की घोषणा की गयी. डा. सुभाष सी. कश्यप की अध्यक्षता वाली 13 सदस्यीय चयन समिति ने यशचंद्र को उनकी कविता पुस्तक ‘वखार’ के लिए वर्ष 2017 का सरस्वती सम्मान पुरस्कार से सम्मानित करने का फैसला किया. पुरस्कार में 15 लाख रुपये की राशि, एक ताम्र पत्र और प्रशस्ति पत्र शामिल है.




शेख हसीना ग्लोबल वीमेन्स लीडरशिप अवार्ड

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को आस्ट्रेलिया में 27 अप्रैल को प्रतिष्ठित ग्लोबल वीमेन्स लीडरशिप अवार्ड से सम्मानित किया जायेगा. शेख हसीना 26 से 28 अप्रैल तक आस्ट्रेलिया के दौरे पर जायेंगी. बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को बांग्लादेश में लैंगिक समानता सुनिश्चित करने के लिए किये जा रहे कार्यों के मद्देनजर यह प्रतिष्ठित पुरस्कार दिया जा रहा है तथा 2018 ग्लोबल समिट आफ वीमेन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है.




60वें ग्रैमी अवार्ड्स

29 जनवरी 2018 को अमेरिका के न्यूयॉर्क में 60वें ग्रैमी अवार्ड्स समारोह का आयोजन किया गया।
इस अवार्ड समारोह में गायक ब्रूनो मार्श के एकल गीत ‘दैट्स वाट आई लाइक’ को सॉन्ग ऑफ द ईयर खिताब से नवाजा गया।
ब्रूनों के एल्बम ‘डैम’ को बेस्ट रैप एल्बम अवार्ड से सम्मानित किया गया।
ब्रूनो के बाद केंड्रिक लमार दूसरे स्थान पर रहे जिन्हे कुल पांच ग्रैमी अवार्ड हासिल हुए है।
मशहूर अभिनेत्री केरी फिशर को मरणोपरांत ‘बेस्ट स्पोकन वर्ड एल्बम ग्रैमी’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
केरी को उनकी ऑडियोबुक ‘द प्रिंसेस डायरिस्ट के लिए सम्मानित किया गया जिसे दिसंबर 2016 में जारी किया गया था।
इस 60वें ग्रैमी अवार्ड समारोह की मेजबानी जेम्स कॉर्डन ने की थी।




75वें गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड

बेवर्ली हिल्स के बेवर्ली हिल्टन होटल में आयोजित 75वें गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड की सबसे खास बात रही गोल्डन ग्लोब लाइफ टाइम एचीवमेंट अवार्ड।
☯ इस बार लाइफ टाइम अचीवमेंट के लिए सिसिल बी डिमिले अवार्ड ओपरा विनफ्रे को दिया गया है। गोल्डन ग्लोब अवार्ड्स के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी अश्वेत महिला को इस अवॉर्ड से नवाजा गया है।
☯ 75वें गोल्डन ग्लोब अवॉर्डस में टेलीविजन सीरीज म्यूजिकल और कॉमेडी वर्ग में अजीज अंसारी को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार दिया गया है। भारतीय मूल के अमेरिकी अभिनेता अजीज अंसारी को कॉमेडी सिरिज ‘मास्टर ऑफ नन’ के लिए यह प्रतिष्ठित पुरस्कार दिया गया है।
☯ निकोल किडमैन को महिला वर्ग में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का अवॉर्ड मिला।
☯ जबकि मोशन पिक्चर (ड्रामा) वर्ग के पुरुष वर्ग में बेस्ट एक्टर का अवार्ड गैरी ओल्ड को दिया गया।
☯ एलिजाबेथ मॉस को बेस्ट एक्ट्रेस (ड्रामा)
☯ स्टर्लिंग ब्राउन को बेस्ट एक्टर (ड्रामा) का अवॉर्ड मिला
☯ समारोह में 'दि हैंडमेड्स टेल' को बेस्ट ड्रामा सीरीज का अवॉर्ड दिया गया
☯ बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का अवॉर्ड ‘बिग लिटिल लाइज' के लिए एलेक्जेंडर स्कार्सगार्ड को मिला




साहित्य अकादमी पुरस्कार 2017

संस्था साहित्य अकादमी ने हिंदी में रमेश कुंतल मेघ की ‘विश्वमिथकसरित्सागर’ और उर्दू के बेग एहसास की ‘दख़मा’ सहित 24 भाषाओं की कृतियों को पुरस्कार के लिए चुना. साहित्य अकादमी के सचिव डॉक्टर के श्रीनिवास राव ने 24 भाषाओं में साहित्य अकादमी और वार्षिक अनुवाद पुरस्कारों की घोषणा की. ‘‘साहित्य अकादमी के अध्यक्ष प्रो विश्वनाथ प्रसाद तिवारी की अध्यक्षता में आज हुई अकादमी के कार्यकारी मंडल की बैठक में पुरस्कारों के लिए इन नामों का अनुमोदन किया






व्यास सम्मान 2017

हिन्दी की जानी मानी साहित्यकार ममता कालिया को वर्ष 2017 का प्रतिष्ठित व्यास सम्मान देने की घोषणा की गई। के के बिरला फाउंडेशन ने आज जारी एक विग्यप्ति में बताया कि साहित्य अकादमी के अध्यक्ष और प्रख्यात साहित्यकार विनाथ तिवारी की अध्यक्षता वाली एक चयन समिति ने ममता को उनके उपन्यास दुक्खम - सुक्खम के लिए सााइसवें व्यास सम्मान से नवाजने का निर्णय किया। उनका यह उपन्यास वर्ष 2009 में प्रकाशित हुआ था।






कृष्णा सोबती को 2017 का ज्ञानपीठ पुरस्कार

साहित्य के क्षेत्र में दिया जाने वाला देश का सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार वर्ष 2017 के लिए हिंदी की शीर्षस्थ कथाकार कृष्णा सोबती को दिया जाएगा. कृष्णा सोबती ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित होने वाली हिन्दी की 11वीं रचनाकार हैं. ज्ञानपीठ के निदेशक लीलाधर मंडलोई ने बताया कि प्रो. नामवर सिंह की अध्यक्षता में हुई प्रवर परिषद की बैठक में वर्ष 2017 का 53वां ज्ञानपीठ पुरस्कार हिंदी साहित्य की सशक्त हस्ताक्षर कृष्णा सोबती को देने का निर्णय किया गया. यह पुरस्कार साहित्य के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रदान किया जाएगा. कृष्णा सोबती को उनके उपन्यास ‘जिंदगीनामा’ के लिए वर्ष 1980 का साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला था. उन्हें 1996 में अकादमी के उच्चतम सम्मान ‘साहित्य अकादमी फैलोशिप’ से नवाजा गया था. इसके अलावा कृष्णा सोबती को पद्मभूषण, व्यास सम्मान, शलाका सम्मान से भी नवाजा जा चुका है. पहला ज्ञानपीठ पुरस्कार 1965 में मलयालम के लेखक जी शंकर कुरूप को प्रदान किया गया था. सुमित्रानंदन पंत ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित होने वाले हिंदी के पहले रचनाकार थे. कृष्णा सोबती ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित होने वाली हिन्दी की 11वीं रचनाकार हैं. इससे पहले हिन्दी के 10 लेखकों को ज्ञानपीठ पुरस्कार मिल चुका है. इनमें पंत, दिनकर, अज्ञेय और महादेवी वर्मा शामिल हैं.






स्वामी चिदानंद सरस्वती महाराज को ग्लोबल पीस अवार्ड

परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती महाराज को ग्लोबल पीस अवार्ड से सम्माित किया गया है। ऋषिकेश, [जेएनएन]: ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ ह्यूमन राइट्स लिबर्टीज एंड सोशल जस्टिस (एआइएचएलएस) ने परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती महाराज को ग्लोबल पीस अवार्ड से सम्मानित किया है। विश्व में शांति का संदेश प्रसारित करने के लिए उन्हें यह सम्मान मिला है। वहीं आश्रम से जुड़ीं और स्वामी चिंदानंद की शिष्या साध्वी भगवती सरस्वती को शांति राजदूत सम्मान से नवाजा गया।






भारत भारती सम्मान

उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान की ओर से हिंदी साहित्य के विद्वानों को उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है। इसमें भारत भारती सम्मान के लिए पुणे के डॉ. आनंद प्रकाश दीक्षित को चुना गया है। उन्हें पांच लाख रुपये सम्मान राशि भी दी जाएगी। वहीं चार लाख रुपये सम्मान राशि वाला हिंदी गौरव सम्मान लखनऊ की डॉ. विद्याबिंदु सिंह को, बाराबंकी के आनन्द मिश्र 'अभय को लोहिया साहित्य और लखनऊ के नेत्रपाल सिंह को अवंतीबाई साहित्य सम्मान दिया जाएगा।






जार्ज सॉन्डर्स को मिला 2017 का मैन बुकर पुरस्कार

लघु कथाओं के प्रसिद्ध अमेरिकी लेखक जार्ज सॉन्डर्स को 'लिंकन इन द बाडरे' के लिए फिक्शन श्रेणी में वर्ष 2017 के मैन बुकर पुरस्कार से नवाजा गया है. इस उपन्यास में अब्राहम लिंकन के उस दर्द को बयान किया गया है जो उन्हें उनके युवा पुत्र के निधन पर हुआ था. लंदन के गिल्डहॉल में 17 नवंबर की रात निर्णायक समिति सदस्य लोला बारोनेस यंग ने इसकी घोषणा की. सॉन्डर्स को डचेज ऑफ कॉर्नवाल ने एक ट्राफी और मैन ग्रुप के कार्यकारी प्रमुख ल्युक इलिस ने 50,000 पाउंड का चेक प्रदान किया.






इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार टीएम कृष्णा को

कांग्रेस पार्टी ने प्रतिष्ठित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार की घोषणा कर दी है। यह पुरस्कार पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की याद में राष्ट्रीय एकता और सद्भावना की दिशा विशिष्ट योगदान देने वाले व्यक्ति को दिया जाता है। इसी क्रम में 2015 और 2016 के लिए वां इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार टीएम कृष्णा को देने का निर्णय लिया गया है। इस पुरस्कार के अंतरर्गत दस लाख रुपये नकद, प्रशस्ति पत्र समेत अन्य प्रदान किया जाता है।






पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को 2004 से 2014 के बीच देश का नेतृत्व करने और वैश्विक स्तर पर भारत का औहदा बढ़ाने के लिए इस साल का इंदिरा गांधी शांति, निरस्त्रीकरण और विकास पुरस्कार दिया जाएगा. इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट के बयान के अनुसार, मनमोहन सिंह को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की अध्यक्षता वाली एक अंतरराष्ट्रीय ज्यूरी द्वारा पुरस्कार के लिए सर्वसम्मति से चुना गया इस पुरस्कार में 25 लाख रुपये रुपये नकद, एक ट्रॉफी और प्रशस्तिपत्र प्रदान किया जाता है.






नोबेल पुरस्कार 2017

अमेरिका के तीन वैज्ञानिकों को मिला चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार

अमेरिका के तीन वैज्ञानिकों जैफ्री सी हाल, माइकल रोसबाश तथा माइकल डब्ल्यू यंग को इस साल के चिकित्सा के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है। अमेरिका के तीन वैज्ञानिकों जैफ्री सी हाल, माइकल रोसबाश तथा माइकल डब्ल्यू यंग को मानव शरीर की ‘‘आंतरिक जैविक घड़ी’’ विषय पर किए गए उनके उल्लेखनीय कार्य के लिए इस साल के चिकित्सा के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है। ‘आंतरिक जैविक घड़ी’ को सर्केडियन रिदम के नाम से जाना जाता है। नोबेल असेम्बली ने कहा है, “उनकी खोजों में इस बात की व्याख्या की गई है कि पौधे, जानवर और इंसान किस प्रकार अपनी आंतरिक जैविक घड़ी के अनुरूप खुद को ढालते हैं ताकि वे धरती की परिक्रमा के अनुसार अपने को ढाल सकें।”




अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार 2017

अर्थशास्त्र के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए रिचर्ड एच थेलर को 2017 का नोबेल प्राइज दिए जाने की घोषणा हुई है। 'डॉक्टर थेलर यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो में इस वक्त प्रफेसर हैं। अर्थशास्त्र के क्षेत्र में उन्होंने मनोविज्ञान और अर्थशास्त्र के तार किस तरह जुड़े हैं इस क्षेत्र पर उन्होंने काफी काम किया है। किसी व्यक्ति के आर्थिक फैसले लेने के पीछे के मनोवैज्ञानिक कारणों की व्यावहारिक अर्थशास्त्र की सूक्ष्म पड़ताल की है।' इस बार अर्थशास्त्र में नोबेल मिलने वालों की रेस में रघुराम राजन का नाम भी शामिल था। राजन भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर रह चुके हैं। एल्फ्रेड नोबल की याद में अर्थशास्त्र में स्वेरिजेस रिक्सबैंक पुरस्कार, जिसे सामान्यतः अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार कहा जाता है, अर्थशास्त्र में असाधारण योगदान के लिए दिया जाने वाला इस क्षेत्र का सबसे प्रतिष्ठित सम्मान है।






शांति नोबेल पुरस्कार 2017: एंटी न्यूक्लियर अभियान के लिए ICAN को

शांति के नोबेल पुरस्कार 2017 का ऐलान हो गया है। इस साल एंटी न्यूक्लियर अभियान चलाने वाली संस्था आईसीएएन (ICAN) को ये सम्मान मिला है। नॉर्वे की नोबेल कमेटी के मुताबिक, आईसीएएन को 2017 का शांति के नोबेल पुरस्कार दुनिया में परमाणु हथियारों के इस्तेमाल के बाद भयावह परिस्थितियों से अवगत कराने के लिए उसके प्रयासों की वजह से दिया गया है।

क्या है ICAN

'इंटरनेशनल कैम्पेन टू अबोलिश न्यूक्लियर वेपन्स' यानी आईकैन सौ से ज्यादा देशों में काम करने गैर सरकारी संस्थाओं का समूह है। इसकी शुरुआत ऑस्ट्रेलिया में हुई थी। 30 अप्रैल, 2007 को विएना में औपचारिक तौर पर लॉन्च किया गया। स्वीडन की बीट्रीस फिन्ह इसकी प्रमुख हैं। 101 देशों के 468 संगठन जुड़े हैं इससे स्विट्जरलैंड के जिनेवा में हैं मुख्यालय






भौतिकी का नोबेल पुरस्कार तीन अमेरिकी वैज्ञानिकों को

राइनर वाइस, बैरी बैरिश और किप थोर्ने को इस साल का भौतिकी का नोबेल पुरस्कार देने की घोषणा की गयी है. गुरुत्वीय तरंगों की खोज करने वाले वैज्ञानिकों को इस साल भौतिकी का नोबेल पुरस्कार मिला है. राइनर वाइस मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से जुड़े हैं जबकि बैरी बैरिश और किप थोर्ने कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से जुड़े हैं. इन तीनों अमेरिकी वैज्ञानिकों ने गुरुत्वीय तरंगों के अस्तित्व का पता लगाया और अल्बर्ट आइंस्टाइन के सदियों पुराने सिद्धांत को सच साबित किया. इन्होंन दो ब्लैक होल के टकराव को सीधे तौर पर तब देखा जब इस घटना के 1.3 अरब साल पूरे हुए थे और यही वो समय है जब तरंगों को पृथ्वी तक पहुंचने में लगता है. गुरुत्वीय तरंगे ब्लैक होल्स के टकराव को पता लगाने का सबसे सटीक तरीका हैं क्योंकि ब्लैक होल्स को देखा नहीं जा सकता.




कजुओ इशिगुरो वर्ष साहित्य नोबेल पुरस्कार

कजुओ इशिगुरो वर्ष 2017 के साहित्य के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित कजुओ इशिगुरो को वर्ष 2017 का साहित्य का नोबेल पुरस्कार दिया गया है। स्वीडिश अकेडमी ने गुरुवार को यह घोषणा की। इशिगुरो अंग्रेजी की दुनिया में फिक्शन लेखकों में अग्रणी माने जाते हैं। उन्हें इससे पहले चार बार ‘मैन बुकर पुरस्कार’ के लिए नामित किया जा चुका है और 1989 में उन्हें उनके उपन्यास ‘द रीमेंस ऑफ द डे’ के लिए यह पुरस्कार दिया गया था। इशिगुरो का जन्म 1954 में जापान में हुआ था और जब वह पांच साल के थे, उनका परिवार ब्रिटेन चला गया था। उन्होंने 1978 में केंट विश्वविद्यालय से स्नातक और 1980 में ईस्ट एंग्लिया विश्वविद्यालय से रचनात्मक लेखन में एम.ए की डिग्री हासिल की। उनके 2005 में लिखित उपन्यास ‘नेवर लेट मी गो’ में विज्ञान फिक्शन की झलक दिखाई दी। 2015 में ‘द बरीड जाएंट’ उपन्यास में उन्होंने दिखाया कि कैसे स्मृति विस्मरण से, वर्तमान इतिहास से और वास्तविकता भ्रम से जुड़े होते हैं।




रयायन विज्ञान नोबेल पुरस्कार 2017

द रॉयल स्वीडिश अकेडमी ने बुधवार को रयायन विज्ञान के नोबेल पुरस्कारों की घोषणा की। जैक्स ड्यूबचित, जोएचिम फ्रैंक और रिचर्ड हेंडरसन को नोबेल पुरस्कार दिया गया। तीनों वैज्ञानिकों को बॉयोमालीक्यूल्स के सॉल्यूशन के उच्च संकल्प संरचना के निर्धारण के लिए क्रायो इलेक्ट्रान माइक्रोस्कोपी विकसित करने को लेकर सम्मानित किया गया।






मिस इंडिया 2018

तमिलनाडु की रहने वाली 19 वर्षीय अनुकृति वास को मुंबई में आयोजित 2018 की मिस इंडिया का ताज पहनाया गया। उन्हें यह ताज मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर ने पहनाया इससे पहले उन्होंने मिस तमिलनाडू 2018 का खिताब जीता था। कॉम्पिटीशन की फर्स्ट रनरअप हरियाणा की रहने वाली मीनाक्षी चौधरी और सेकंड रनरअप आंध्र प्रदेश की श्रेया राव रहीं।



दक्षिण अफ्रीका की डेमी-ले-नेल-पीटर्स ने मिस यूनिवर्स 2017

अमेरिका के लॉस वेगास में हुई इस प्रतियोगिता में दुनियाभर की क़रीब 92 सुंदरियों ने हिस्सा लिया था. डेमी-ले 66वीं मिस यूनिवर्स चुनी गई हैं. इस प्रतियोगिता के फाइनल में दक्षिण अफ्रीका, जमैका और कोलंबिया की उम्मीदवार पहुंची थीं. फ़र्स्‍ट रनर-अप मिस कोलंबिया रहीं और मिस जमैका तीसरे पायदान पर चुनी गईं.






भारत की मानुषी बनीं मिस वर्ल्ड 2017

हरियाणा की रहने वाली मानुषी छिल्लर ने 2017 का मिस वर्ल्ड खिताब अपने नाम कर लिया है। 54वें फेमिना मिस इंडिया वर्ल्ड 2017 में मानुषी ने विश्व सुंदरी का ताज जीता है। मानुषी से पहले 2000 में प्रियंका चोपड़ा ने इस खिताब को भारत के नाम किया था. हरियाणा की मानुषी छिल्लर मेडिकल स्टूडेंट हैं. फर्स्ट रनरअप मिस इंग्लैंड स्टेफनी हिल और मिस मैक्सिको एंड्रिया मेजा को सेकेंड रनर अप बनाया गया. मानुषी ने सान्या शहर एरीना में आयोजित समारोह में दुनिया के विभिन्न हिस्सों से 108 सुंदरियां को पछाड़ कर यह खिताब अपने नाम किया है. मिस वर्ल्ड 2016 की विजेता प्यूटरे रिको की स्टेफनी डेल वैले नई विश्व सुंदरी को प्रतिष्ठित ताज पहनाया. मानुषी ने इस साल फेमिना मिस इंडिया 2017 का खिताब जीता था.



भारत रत्न पुरस्कार 2014 :- पंडित मदनमोहन मालवीय(मरणोपरांत) एवं अटल बिहारी वाजपेयी

★ मदन मोहन मालवीय -इस महान राष्ट्रवादी, स्वतंत्रता आंदोलन नेता और पत्रकार का जन्म 25 दिसंबर 1861 में इलाहाबाद में हुआ था। 1909 और 1918 में ये भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस के अध्यक्ष बने। मालवीय जी एक नरम स्वाभाव के नेता थे; गाँधी जी ने इन्हें ‘महामना’ की उपाधि दी थी। 1916 में एनी बेसेंट की मदद से बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय की स्थापना करना शायद उनका सबसे महत्वपूर्ण योगदान था। बीएचयू आज के दिनों में भारत के बेहतरीन विश्वविद्यालयों में से एक है। मदन मोहन मालवीय 1939 तक इसके कुलाधिपति बने रहे। 12 नवंबर 1946 को ये महान शिक्षाविद और स्वतंत्रता आंदोलन के नेता नहीं रहे। 2014 में मरणोंपरांत इन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

★ अटल बिहारी वाजपेयी- 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म हुआ। वाजपेयी जी ने अपनी सार्वजनिक जीवन की शुरुआत की जब वो 1939 में आरएसएस से जुड़े और आज तक उसके विचारों पर टिके हुए है। ये पूर्व जनसंघ के अध्यक्ष और प्रख्यात सदस्य बने। आपातकाल के दौरान ये पीएम इंदिरा गाँधी के खिलाफ विस्तृत विरोध के महत्वपूर्ण नेताओं में से एक थे और गिरफ्तार किये गये। जब जनता सरकार ने आपातकाल के बाद चार्ज लिया, वाजपेयी जी को विदेश मंत्री के रुप में चुना गया। 1980 में दूसरे जनसंघ सदस्यों के इन्होंने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की स्थापना की। जब पहली बीजेपी सरकार सत्ता में आयी तो वाजपेयी जी प्रधानमंत्री बने, 1996 में पहले 13 दिनों के लिये, दूसरी बार 13 महीनों के लिये 1998-1999 के लिये और दुबारा 1999 में 5 साल के लिये। इनके नेतृत्व में भारत ने अपने पहले परिक्षण के 24 वर्ष बाद 1998 मई में दूसरा परमाणु परिक्षण किया। इनके कार्यकाल के दौरान इन्होंने कई सारे राष्ट्र निर्माण के प्रोजेक्ट्स की शुरुआत की जैसे राष्ट्रीय हाइवे विकास प्रोजेक्ट, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना आदि। अपने पूरे राजनीतिक जीवन के दौरान अटल बिहारी वाजपेयी जी ने लोगों का प्यार और लगाव प्राप्त किया यहाँ तक कि उनके राजनीतिक विरोधी भी उनका अनुसरण करते है। वर्ष 2014 में इन्हें अपने असाधारण सार्वजनिक जीवन के लिये भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

★ 2013 में सरकार ने सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ देने के नियम को बदला। इस सम्मान को प्राप्त करने वाले सचिन पहले खेल हस्ति बने। सचिन भारत रत्न पाने वाले सबसे युवा भारतीय है।

Widget is loading comments...
Free Web Hosting