free hits

सामुद्रिक अभ्यास जेआईएमईएक्स18

भारत और जापान के बीच द्विपक्षीय सामुद्रिक अभ्यास ‘जेआईएमईएक्स18’ विशाखापत्तनम में शुरू यह युद्धाभ्यास का लक्ष्य दोनों बलों की अंतरसंचालन क्षमता बढ़ाना, सर्वश्रेष्ठ परंपराओं को समझना है. इस अभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों के बीच समुद्री सुरक्षा सहयोग बढ़ाना है.

बैलिस्टिक मिसाइल 'प्रहार' का सफल परीक्षण

भारत ने रविवार की रात ओडिशा तट पर एक इंटरसेप्टर मिसाइल 'प्रहार' का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। इसके साथ ही भारत ने द्विस्तरीय बैलिस्टिक मिसाइल रक्षा प्रणाली विकसित करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल कर ली। रक्षा सूत्रों ने बताया कि इंटरसेप्टर को अब्दुल कलाम द्वीप से रात में आठ बजकर पांच मिनट पर प्रक्षेपित किया गया। इसे पहले व्हीलर द्वीप के नाम से जाना जाता था। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के वैज्ञानिक ने कहा कि यह पृथ्वी रक्षा यान (पीडीवी) मिशन पृथ्वी के वायुमंडल में 50 किमी से ऊपर की ऊंचाई पर लक्ष्य को निशाना बनाने के लिए है।

सुनामी मॉक अभ्यास आईओवेव 18

भारतीय उप-महाद्वीप के 23 देशों का भारतीय समुद्री क्षेत्र में आयोजित सुनामी मॉक ड्रिल 2018 पूरा हो गया आईओवेव 18 नाम से इस अभ्यास का आयोजन unesco के अंतर-सरकारी समुद्र विज्ञान आयोग ने किया था.आयोग ने 26 दिसंबर 2014 को आयी सुनामी के बाद चेतावनी और शमन व्यवस्था (आई ओ टी डब्ल्यू एम एस) की स्थापना में भी मदद की थी.

भारत में पहली बार स्पाइस जेट ने बायोफ्यूल से उड़ान भरी

अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के बाद भारत उन देशों में शामिल हो गया है,जिन्होंने बायोफ्यूल से उड़ान भरने में कामयाबी हासिल की है। भारत में पहली बार स्पाइस जेट ने बायोफ्यूल से उड़ान भरी। स्पाइसजेट ने आज देश की पहली बार बायोफ्यूल से चलने वाली परीक्षण उड़ान का परिचालन किया। Bombardier Q400 विमान ने जैव जेट ईंधन की मदद से देहरादून से दिल्ली हवाई अड्डे तक उड़ान भरी। इस विमान में करीब 20 लोग सवार थे। देहरादून से दिल्ली की उड़ान में विमान को 25 मिनट का वक्त लगा। दिल्ली के इंदिरा गांधी हवाई अड्डे पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, नितिन गडकरी और सुरेश प्रभू मौजूद, डॉ हर्षवर्धन ने विमान का स्वागत किया। इस बायोफ्यूल में 75 फीसदी एविएशन टर्बाइन फ्यूल और 25 फीसदी बायोफ्यूल होता है। बायोफ्यूल के साथ उड़ान भरने के बाद एयरलाइन ने कहा कि एटीएफ ईंधन की तुलना में जैवजेट ईंधन इस्तेमाल फायदेमंद है, क्योंकि इससे कॉर्बन उत्सर्जन घटता है और साथ ही ईंधन दक्षता भी बढ़ती है। जट्रोफा फसल से बने इस ईंधन का विकास सीएसआईआर-भारतीय पेट्रोलियम संस्थान, देहरादून ने किया है.


टैंक रोधी निर्देशित मिसाइल ‘हेलीना’

भारत ने 19 अगस्त 2018 को स्वदेशी गाइडेड बम (निर्देशित बम) स्मार्ट एंटी एयरफिल्ड वेपन्ज और टैंक रोधी निर्देशित मिसाइल ‘हेलीना’ का राजस्थान के पोखरण में अलग-अलग फायरिंग रेंज में सफल परीक्षण किया. भारत ने 03 अगस्त 2018 को अंतर-वायुमंडलीय उन्नत वायु रक्षा (एएडी) इंटरसेप्टर मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया. इंटरसेप्टर मिसाइल को ओडिशा तट के अब्दुल कलाम द्वीप से छोड़ा गया. भारत ने इससे पहले 16 जुलाई 2018 को सफलतापूर्वक सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्राह्मोस का परीक्षण किया था. यह मिसाइल बेहद कम ऊंचाई से आने वाली किसी भी बैलिस्टिक मिसाइल को बीच में ही मार गिराने में सक्षम है. बहुस्तरीय बैलिस्टिक मिसाइल रक्षा प्रणाली विकसित करने के प्रयासों के तहत विकसित यह मिसाइल दुश्मन की तरफ से आने वाली बैलिस्टिक मिसाइलों को नष्ट करने में सक्षम है.



पार्कर सोलर प्रोब' मिशन लॉन्च

अमेरिकी स्पेस एंजेंसी नासा ने 12 अगस्त 2018 को अपना पहला सोलर मिशन 'पार्कर सोलर प्रोब' मिशन लॉन्च किया है. फ्लोरिडा के केप केनेवरल स्थित प्रक्षेपण स्थल से डेल्टा-4 रॉकेट इसे लेकर अंतरिक्ष रवाना किया गया. यह पहली बार होगा जब कोई स्पेसक्राफट सूर्य के इतने करीब जाएगा और उसका अध्ययन करेगा. इसके प्रक्षेपण का मुख्य मकसद कोरोना के रहस्य से पर्दा उठाना है.कोरोना प्लाज्मा से बना होता है और यह वायुमंडल की तरह सूर्य और तारों को चारों ओर से घेरे रहता है. अस्वाभाविक रूप से इसका तापमान सूर्य के सतह से 300 गुना ज्यादा होता है. इससे शक्तिशाली प्लाज्मा और तीव्र ऊर्जा वाले कणों का उत्सर्जन भी होता है, जो धरती पर स्थित पावर ग्रिड में गड़बड़ी ला सकता है.

युद्धाभ्यास पिच ब्लैक-2018



हाल ही में ऑस्ट्रेलिया की वायुसेना द्वारा आयोजित बहुराष्ट्रीय वायुसैनिक अभ्यास पिच ब्लैक-2018 में भारत वायुसेना पहली बार भाग लेने जा रहा है। इस वायुसैनिक अभ्यास में भारत लड़ाकू विमान सुखोई-30 एमकेआई के अलावा हरकुलस और ग्लोब मास्टर विमानों को भी उतार रहा है। पिच ब्लैक युद्धाभ्यास 27 जुलाई 2018 से 17 अगस्त 2018 तक चलेगा। ऐसा पहली बार है जब भारतीय वायुसेना दल रॉयल ऑस्ट्रेलियाई वायु सेना के साथ ऑस्ट्रेलिया में बहुराष्ट्रीय वायु अभ्यास में भाग ले रहा है।

पार्कर सोलर प्रोब मिशन

पार्कर सोलर प्रोब मिशन को 6 अगस्त को रवाना किया जाएगा. यह यान 2024 में सूरज की कक्षा में पहुंचेगा जिसके बाद ये एक साल तक उसके करीब रहकर जानकारियां जुटाएगा.

सुपरसोनिक इंटरसेप्टर मिसाइल का सफल परीक्षण

भारत ने 28 दिसंबर 2017 को स्वदेश निर्मित उन्नत वायु रक्षा (एएडी) सुपरसोनिक इंटरसेप्टर मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया. इस मिसाइल का परीक्षण ओडिशा स्थित अब्दुल कलाम आईलैंड से किया गया.इस मिसाइल प्रणाली को विकसित करने वाला भारत विश्व का चौथा देश बन गया है. यह मिसाइल कम ऊंचाई में किसी भी आने वाली बैलिस्टिक मिसाइल को नष्ट करने में सक्षम है.

‘अग्नि-5’ मिसाइल का सफल परीक्षण

भारत ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम और स्वदेश में विकसित लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 का 03 जून 2018 को सफलतापूर्वक परीक्षण किया. इस मिसाइल को बंगाल की खाड़ी में डॉ. अब्दुल कलाम द्वीप पर एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) के लांच पैड-4 से सचल प्रक्षेपक (मोबाइल लांचर) की मदद से प्रक्षेपित किया गया. यह अग्नि-5 का छठा परीक्षण था यह मिसाइल बेहद शक्तिशाली है, और 5,000 किलोमीटर तक मार कर सकती है.

भारतीय नौसेना का ऑपरेशन "निस्तार"

भारतीय नौसेना ने यमन के सोकोट्रा द्वीप पर फंसे 38 भारतीयों को सुरक्षित बाहर निकाला. इस इलाके में आये चक्रवात के कारण यह लोग इस क्षेत्र में फंस गए थे, जिन्हें बचाने के लिए भारत ने यह अभियान आरंभ किया था. 'ऑपरेशन निस्तार' के तहत भारतीयों को बाहर निकाला गया. यह ऑपरेशन सोकोट्रा तट पर चलाया गया और उन्हें वापस भारत लाने के लिए भारतीय नौसेना के जहाज आईएनएस सुनयना को भेजा गया.

नौवहन सैन्याभ्यास 'रिमपैक'

चीन के लगातार सैन्यीकरण के कारण प्रशांत महासागर में होने वाले दुनिया के सबसे बड़े नौवहन सैन्याभ्यास 'रिमपैक' के लिए दिया गया निमंत्रण वापस ले लिया है.इस सैन्याभ्यास में भारत, ऑस्ट्रेलिया, जापान और ब्रिटेन सहित दुनिया भर के 20 से अधिक देश हिस्सा लेते हैं.

युद्धाभ्यास हरिमऊ शक्ति 2018

भारत और मलेशिया की सेनाएं 30 अप्रैल 2018 से 13 मई 2018 तक मलेशिया के हुलु लंगट स्थित सेंगई परडिक के घने जंगलों में एक संयुक्‍त प्रशिक्षण अभ्‍यास ‘हरिमऊ शक्ति’ का संचालन किया इस अभ्‍यास का उद्देश्‍य दोनों देशों की सेनाओं के मध्‍य परस्‍पर सहयोग और समन्‍वय बढ़ाना तथा घने जंगलों में अराजकता निरोध कार्रवाई के संचालन में विशेषज्ञता को साझा करना है.

युद्धाभ्यास 'विजय प्रहार'

राजस्थान में तैनात सेना की दक्षिण-पश्चिम कमान द्वारा विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम ‘विजय प्रहार’ का अभ्यास किया जा रहा है. इस सैन्य युद्धाभ्यास कार्यक्रम में सेना के 20 हजार सैनिक भाग ले रहे हैं. सूरतगढ़ के पास महाजन रेंज में युद्धाभ्यास 'विजय प्रहार' के जरिये दुश्मन के परमाणु हमले से निपटने का अभ्यास किया जा रहा है. इस दौरान वायुसेना के साथ तालमेल बैठाने का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है.

‘गगन शक्ति-2018’ युद्धाभ्यास

भारतीय वायुसेना द्वारा अब तक का सबसे बड़ा युद्धाभ्यास ‘गगन-शक्ति 2018’ आयोजित किया गया. इसका आयोजन देश के सभी सीमावर्ती क्षेत्रों में किया जा रहा है तथा जहां आश्यकता है वहां किया जा रहा है. यह युद्धाभ्यास 22 अप्रैल 2018 तक चलेगा. गगन शक्ति-2018 में पहली बार महिला पायलट भी हिस्सा ले रही है. इस युद्धाभ्यास में पहली बार स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस भाग ले रहा है.

भारत वियतनाम संयुक्त सैन्याभ्यास

भारत और वियतनाम की सेनाओं ने 29 जनवरी 2018 को मध्यप्रदेश के जबलपुर में संयुक्त सैन्याभ्यास में हिस्सा लिया. यह संयुक्त सैन्याभ्यास छह दिनों तक चलेगा. इस अभ्यास को ‘विनबैक्स’ नाम दिया गया है. यह दोनों देशों के बीच होने वाला पहला संयुक्त सैन्य अभ्यास हैं.




रूस ने विश्व का पहला पानी पर तैरता परमाणु संयत्र लॉन्च किया

रूस ने विश्व का पहला तैरता हुआ परमाणु ऊर्जा संयंत्र लॉन्च किया. अब तक किसी भी देश के पास इस प्रकार की तकनीक नहीं थी. रूस ने इसे मुरमंस्क शहर के एक बंदरगाह से समुद्र में उतारा. इसका नाम ‘एकेडेमिक लोमोनोसोव’ (akademik lomonosov) है.



बैलिस्टिक मिसाइल ‘सरमत’

रूसी सेना ने हाल ही में अंतर-महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) ‘सरमत’ का सफल परीक्षण किया है. उत्तर-पश्चिमी रूस के प्लेसेत्स्क कॉस्मोड्रोम (प्रक्षेपण केंद्र) से ‘सरमत’ मिसाइल का प्रक्षेपण किया गया. रूस से अमेरिका के बीच की दूरी 8000 किलोमीटर है, जबकि इस मिसाइल की मारक क्षमता 12,000 किलोमीटर से भी अधिक आंकी गयी है. यह मिसाइल अपने साथ 10 परमाणु हथियार अर्थात लगभग 100 टन वजनी परमाणु सामग्री ले जा सकती है.

‘अग्नि-5’ मिसाइल का सफल परीक्षण

भारत ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम और स्वदेश में विकसित लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 का 03 जून 2018 को सफलतापूर्वक परीक्षण किया. इस मिसाइल को बंगाल की खाड़ी में डॉ. अब्दुल कलाम द्वीप पर एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) के लांच पैड-4 से सचल प्रक्षेपक (मोबाइल लांचर) की मदद से प्रक्षेपित किया गया. यह अग्नि-5 का छठा परीक्षण था यह मिसाइल बेहद शक्तिशाली है, और 5,000 किलोमीटर तक मार कर सकती है.



तेजस ने बीवीआर मिसाइल का किया सफल परीक्षण

स्वेदशी रुप से विकसित हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) तेजस ने हवा से हवा में मार करने वाली बियोंड विजुअल रेंज (बीवीआर) मिसाइल का सफल परीक्षण किया. इस परीक्षण का उद्देश्य तेजस पर मौजूद प्रणालियों के साथ डर्बी को जोड़े जाने का आकलन करना और इसके प्रदर्शन का सत्यापन करना था. इन प्रणालियों में एवियोनिक्स, अग्नि नियंत्रण राडार, लांचर और मिसाइल हथियार आपूर्ति प्रणाली शामिल है. तेजस को पुराने मिग 21 विमानों के स्थान पर तैयार किया गया था लेकिन अब यह एक आधुनिक लड़ाकू विमान बन चुका है.




निपाह वायरस

☯केरल के कोझिकोड में पहली बार 'निपाह वायरस' (एन.आई.वी) से संक्रमित 11 लोगों की मौत के बाद ऐसे मरीजों की सघन निगरानी आरम्भ की गई तथा देश भर के स्वास्थ्य विभागों तथा संस्थाओं को आपातकालीन सेवाओं के लिए तैयार किया गया है.
☯निपाह वायरस एक 'जूनेटिक वायरस' है.जो पशुओं से मनुष्य के शरीर में प्रवेश करता है.
☯यह हेंडर वायरस के समान होता है.
☯निपाह वायरस राइबो न्यूक्लिक एसिड (RNA) वायरस है.विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे 'निपाह वायरस इन्सेफलाइटिस' कहा है.
☯निपाह वायरस के संक्रमण का कोई टीका वर्तमान में उपलब्ध नहीं है.
☯निपाह वायरस (NiV) का पता पहली बार 1998 में डॉ. बिंग चुआ के शोध से लगा था.
☯सबसे पहले निपाह (मलेशिया) नामक स्थान में संक्रमण फैलने के कारण इसे निपाह वायरस कहा गया.
☯इस वायरस के संक्रमण से मलेशिया के कैम्पुंग सुन्गाई में सैकड़ों लोगों की मौत हुई.
☯फ्रूट बैट चमगादड़ की एक प्रजाति है,जो संक्रमण को तेजी से फैलाता है.
☯फ्रूट बैट्स द्वारा केला,आम,अंजीर,तथा अन्य रसीले फल खाये जाते हैं,जिससे संक्रमण मनुष्य में पहुंच जाता है.

Widget is loading comments...
Free Web Hosting